Welcome to Sarvajanik Madhyamik Vidyalaya, Gwalior

इतिहास रू. परम श्रध्देय स्वण्श्री बाबासाहब गोखले के असीम त्याग और परिश्रम के फलस्वरूप सन १९४३ से संख्या का शुभारंभ सार्वजनिक शिशु पाठशाला के नाम से हुआ.सन १९४३ से १९५८ तक विध्यालय का संचालन बालदे भवनएजीवाजी गंज में हुआण् इसके पश्चात् सन १९५९ से सन २००९ तक विध्यालय का संचालन राजवाड़े भवनएनई सड़क में हुआ. सन २००९ से विध्यालय का स्थानांतरण पुनरूबालदे भवन जिवाजिगंज में किया गया. विध्यालय के प्रारंभ से सन १९७० तक अध्यापन कार्य मराठी एवं हिंदी दोनों ही माध्यम से किया जाता रहाण् तपश्चात् सन १९७० से केवल हिंदी माध्यम Read more

Principal Message

प्रिय छात्र/छात्राओं, नवीन शैक्षणिक सत्र में प्रवेश लेने वाले सभी छात्र/छात्राओ का विद्यालय परिवार अभिनन्दन करता है| वह नगर का सर्वाधिक पुराना एवं प्रतिष्ठित विद्यालय है| यहाँ से कई विद्यार्थी अपनी प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण कर आज समाज में प्रतिष्ठित स्थानों पर कार्यरत है| Read more